You are here:

हुनरमंद बेटियों का हौसला बढ़ा गईं वर्तिका।

UP

बाराबंकी। वो उनका चेहरा निहार रही थीं और वो अपना चेहरा देखने वाले के हाथों को। सौंदर्य और हुनर की ये मुलाकात गांव की मेधावी बेटियों का हौसला बढ़ा गई। शुक्रवार की शाम शहर से दूर ददौरा गांव में मिस इंडिया फेमिना वर्तिका सिंह के कदम पड़े तो लगा कोई ख्वाब सामने हो। हुनर को गढ़ने वाले कमरे में रखी सिलाई मशीन पर एक कपड़े की तुरपाई कर उन्होंने हाथ भी आजमाया मशीन चलते ही सुई ऊपर नीचे हुई और कपड़ा खिसकते ही वो खिलखिला कर हंस पड़ी। प्रधान जी कल्पना तिवारी उन्हें स्किल डेवलपमेंट की खुशनुमा तस्वीर के अलग अलग रंगों से उन्हें रूबरू कराती रहीं। रामनगर ब्लाक का ग्राम ददौरा शाम का वक्त यहां एक कमरे में बैठी गांव की रूबी सरिता और तमाम बेटियां रोज़ाना की तरह सिलाई कढाई का काम सीख रही थीं। इसी दौरान यहां मिस इंडिया फेमिना वर्तिका सिंह पहुंचीं। गांव में कार से उतरते ही उन्हें प्रधान श्रीमती कल्पना तिवारी ने बुके भेंट किया। इसके बाद सिलसिला शुरू हुआ मुलाकात का। प्रशिक्षण कार्य मे प्रधान कल्पना तिवारी का सहयोग करने वाली संस्था रण समर फाउंडेशन की चेयरपर्सन आभा सिंह के साथ वर्तिका उस कमरे में पहुँचती हैं जहां गांव की लड़कियां काम कर रही थी। पर्स थैले देखे मशीन भी चलाई वर्तिका ने बेहद उत्साह से उनके हाथों से बनाए गए सुंदर पर्स को देखा। कलरफुल पर्स की अलग अलग डिजाइन को देख उन्होंने तारीफ भी की। इसके बाद वहां कपडे का थैला बनते देखा तो कहा मैं भी मशीन चलाकर देखती हूँ। वर्तिका ने एक कपड़ा लेकर सुई के नीचे तुरपाई कर रखा दूसरा हाथ मशीन घुमाने वाले हैंडल पर था जैसे ही हैंडल हरकत में आया सुई ऊपर नीचे हुई कपड़ा भी आगे खिसका और उसमें तुरपाई होने लगीं। ये देखकर वर्तिका खिलखिला कर हंस पड़ीं। सिलाई का हुनर कम्प्यूटर ज्ञान भी प्रधान कल्पना तिवारी ने उन्हें बताया कि गांव में दो कमरे है जिनमे बिजली कनेक्शन पंखा और इन्वर्टर भी लगा है। इसमें एक मे गांव की बेटियां सिलाई कढाई और दूसरे कमरे में कम्प्यूटर सीखती हैं। इसके लिए इनसे कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। अभी इन लड़कियों की संख्या 50 पार कर गई है। प्रशिक्षण देने का मकसद इन्हें आत्मनिर्भर बनाकर रोजगार सीखना है। इससे उनके भीतर छिपी प्रतिभा भी उभर आती है। मिस इंडिया फेमिना वर्तिका सिंह ने गांव में लगे महाबोधि वट वृक्ष को देखा। एक लंबे चौड़े क्षेत्रफल में अपनी शाखाओं के साथ वट वृक्ष को देख उसका इतिहास भी जाना। मिस यूनिवर्स में दिखेंगे गुजरे पल वर्तिका आने वाले समय मे अंतरराष्ट्रीय मिस यूनिवर्स कम्पटीशन में भारत की ओर से प्रतिभाग करेंगी। शुक्रवार को ददौरा गांव में बेटियों के बीच गुजरा ये वक्त एक वीडियो के रूप में मिस यूनिवर्स कम्पटीशन में भी दर्शाया जाएगा। इसकी जानकारी पाकर वहां मौजूद बेटियों को भी अपने काम पर फक्र महसूस हुआ उन्होंने वर्तिका क़ो सफल होने के लिए अपनी शुभकामनाये भी दीं। इस मौके पर सिलाई सीख रहीं रोशनी राधा बबिता पूजा रोली रीता आरती व कम्प्यूटर का नालेज ले रहीं छाया आकांक्षा क्षमा मानवी ओमलता निशा रिंकी रेशमा व अन्य युवतियां मौजूद रहीं।

related post