You are here:

योगी ने कहा यूपी में सिर्फ कानून राज होगा, विकास के मुद्दे पर नहीं होगा भेदभाव

UP

17वीं विधानसभा में पहली बार निर्वाचित सदस्यों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ बुधवार को राज्यपाल राम नाईक ने किया। इस अवसर पर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ मुख्य वक्ता के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा हम सब को बिना किसी दबाव के कार्य करना चाहिए। विधायकों को चाहिए कि वह अपना काम समझे, तभी ठीक ढंग से काम का संचालन कर पाएंगे। उन्होंने कहा कुछ लोग गलत काम करते है जिनकी वजह से पूरी सरकार बदनाम होती। 

अपने अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने कहा कि संसदीय लोकतंत्र विधायिका एक ऐसी संस्था है जो जवाबदेह है। उन्होंने कहा जिस जनता ने हमें चुना है, हमें पांच साल बाद उसी के पास वापस जाना है इसलिए जनता के प्रति हम सबकी जिम्मेदारी बनती है। उन्होंने कहा कि विश्वसनीयता का संकट जो हम सबके सामने है उसमे कहीं न कहीं सदन में हमारी अनुपस्थिति, मर्यादा से परे आचरण और जनप्रतिनिधियों पर भ्रष्टाचार के लगने वाले आरोप है।

related post